उत्तराखंडचारधामयात्रा-पर्यटन

कड़ाके की ठंड में भी गरजे तीर्थ पुरोहित

केदारनाथ में देवस्थानम बोर्ड भंग करने की मांग को लेकर जोरदार प्रदर्शन

• रुद्रप्रयाग में 13 सिंतबर के प्रदर्शन के लिए केदारघाटी में जुटा रहे जनसमर्थन

रुद्रप्रयाग। केदारनाथ में देवस्थानम बोर्ड के खिलाफ जारी आंदोलन पर कड़ाके की ठंड का भी कोई असर नहीं दिख रहा। मंगलवार को तीर्थ पुरोहितों ने बाबा के धाम में जोरदार नारेबाजी के साथ जुलूस निकाल कर प्रदर्शन किया। उधर, 13 सितंबर को जिला मुख्यालय रुद्रप्रयाग में प्रस्तावित प्रदर्शन को लेकर तीर्थ पुरोहितों का दावा है कि प्रदर्शन में 2000 से भी अधिक लोग शामिल होंगे। आंदोलन को अब तक केदारघाटी के 64 गांवों का समर्थन मिल चुका है।

केदारनाथ धाम में देवस्थानाम बोर्ड भंग करने की मांग को लेकर क्रमिक अनशन और धरना 24वें दिन भी जारी रहा। तीर्थ पुरोहितों ने हाथों में स्लोगन लिखी तख्तियां लेकर मंदिर परिसर से हैलीपैड तक जुलूस निकाल कर प्रदर्शन किया। उन्होंने देवस्थानम बोर्ड को भंग करो के साथ राज्य सरकार के खिलाफ भी जमकर नारेबाजी की।

तीर्थ पुरोहितों का कहना है कि देवस्थानम बोर्ड के गठन से पूर्व प्रदेश सरकार ने चारों धामों के तीर्थ पुरोहितों, हकहकूकधारियों और स्थानीय समाज से विचार विमर्श नहीं किया। बोर्ड का गठन चारधाम यात्रा व्यवस्था को बदलने की साजिश के तहत किया गया है। धामी सरकार भी देवस्थानम् बोर्ड पर गंभीर नहीं है। झूठे आश्वासनों से बहलाया जा रहा है। उन्होंने सरकार पर तीर्थ पुरोहितों और व्यापारियों के साथ खिलवाड़ करने का आरोप भी लगाया।

बताया कि 13 मार्च को जिला मुख्यालय रुद्रप्रयाग में प्रस्तावित विरोध प्रदर्शन को लेकर तीर्थ पुरोहित केदारघाटी के गांवों में जनसमर्थन जुटा रहे हैं। अब तक 64 गांवों में युवाओं के साथ ही महिलाओं और बुजुर्गों का उन्हें भारी समर्थन मिल रहा है। प्रदर्शन में 2000 से भी ज्यादा लोगों के जुटने की उम्मीद है। उन्होंने जनता से भी बोर्ड के खिलाफ मुखर होने की अपील की है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button