देश-विदेशहादसा

रुद्रप्रयाग हादसाः अब तक 14 की मौत, इन्होंने जताया दुःख

Rudraprayag Accident : बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग पर रुद्रप्रयाग के पास रैंतौली में यात्रियों से भरा एक टेंपो ट्रेवलर करीब 250 मीटर सड़क से नीचे अलकनंदा नदी में जा गिरा। वाहन में 23 लोग सवार बताए गए हैं। दुर्घटना में अब तक 14 लोगों के मरने की खबर है। घायलों में 7 यात्रियों को एम्स ऋषिकेश एयरलिफ्ट किया गया। जबकि 7 का उपचार जिला अस्पताल में चल रहा है।

दिल्ली से 23 लोगों का एक दल टेंपो ट्रैवलर से चोपता-तुंगनाथ के लिए चले थे। शनिवार को ऋषिकेश- बदरीनाथ हाईवे पर रुद्रप्रयाग के समीप रैंतोली के पास पूर्वाह्न करीब साढ़े 11 बजे वाहन अनियंत्रित होकर सड़क से नीचे अलकनंदा नदी में जा गिरा। हादसे की सूचना मिलते ही पुलिस, एसडीआरएफ, जिला आपदा प्रबंधन और प्रशासन की टीमों ने मौके पर रेस्क्यू शुरू किया।

रेस्क्यू टीमों ने घायलों को नदी किनारे से बाहर निकाला। तब तक टेंपो में सवार 10 लोगों की मौके पर ही मौत हो चुकी थी। रेस्क्यू के बाद घायलों को तत्काल जिला अस्पताल भेजा गया, जहां से 7 गंभीर घायलों को उपचार के लिए हेलीकॉप्टर से एम्स ऋषिकेश रेफर किया गया। इसबीच 02 घायलों की जिला अस्पताल और 02 की एम्स में मौत हो गई।

हादसे पर इन्होंने जताया दुःख
हादसे की खबर लगने पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने प्रशासन को आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि टेंपो ट्रैवलर के दुर्घटनाग्रस्त होने का अत्यंत पीड़ादायक समाचार प्राप्त हुआ। स्थानीय प्रशासन व एसडीआरएफ की टीमें राहत एवं बचाव कार्यों में जुटी हुई है। घायलों को नज़दीकी चिकित्सा केंद्र पर उपचार के लिए भेज दिया गया है। ज़िलाधिकारी को घटना की जांच के आदेश दे दिए हैं। ईश्वर से प्रार्थना है कि दिवंगतों की आत्मा को श्रीचरणों में स्थान एवं शोक संतप्त परिजनों को यह असीम कष्ट सहन करने की शक्ति प्रदान करें। बाबा केदार से घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना करता हूं।

रुद्रप्रयाग हादसे पर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने एक्स पर पोस्ट साझा कर कहा कि मेरी संवेदनाएं इस हादसे में जान गंवाने वालों के परिजनों के साथ हैं। स्थानीय प्रशासन और एसडीआरएफ की टीमें राहत व बचाव कार्य में जुटी हैं और घायलों को हर सम्भव सहायता उपलब्ध कराई जा रही है। ईश्वर से घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं।

रुद्रप्रयाग हादसे पर पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि मृतकों की शांति के लिए भगवान से प्रार्थना करता हूं और जो घायल हैं उनके स्वास्थ्य के लिए कामना करता हूं। उनको बेहतर से बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करवाई जाए राज्य सरकार से याचना करता हूं। इस समय पर्वतीय क्षेत्रों में दुर्घटनाएं बढ़ गई हैं। इस पर चिंता करने की आवश्यकता है।

वहीं, गढ़वाल लोकसभा के नवनिर्वाचित सांसद अनिल बलूनी ने भी दुर्घटना पर शोक जताया। उन्होंने कहा कि जो भी घायल हैं उनका सही से इलाज किया जा रहा है। जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button