उत्तराखंडदेश-विदेश

कोरोना से लड़ाई में देश ने दिखाई अपनी सामर्थ्य : मोदी

प्रधानमंत्री ने एम्स ऋषिकेश में किया देशभर के 35 पीएसए ऑक्सीजन प्लांट्स का लोकार्पण

शिखर हिमालय डेस्क
35 PSA Oxygen Plants: ऋषिकेश। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देवभूमि उत्तराखंड से देशभर में पीएम केयर्स फंड से स्थापित 35 पीएसए ऑक्सीजन प्लांट्स को लोकार्पित किया। कहा कि 100 साल के सबसे बड़े संकट का भारत ने जिस बहादुरी के साथ सामना किया, दुनिया उसे बहुत बारीकी से देख रही है। कोरोना से लड़ाई में भारत ने बेहद कम समय में जो सुविधाएं जुटाई, वह देश की सामर्थ्य और एकजुटता को दिखाता है।

गुरुवार को पीएम 11 बजे अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स पहुंचे। उन्होंने एम्स सहित देश के 27 राज्यों और 8 केंद्र शासित प्रदेशों में पीएम केयर्स फंड से स्थापित 35 पीएसए ऑक्सीजन प्लांट्स का वर्चुअल माध्यम से लोकार्पण किया। इस दौरान उन्होंने भारत माता की जय के उद्घोष के साथ अपना संबोधन किया। कहा कि योग और आयुर्वेद की शक्ति को देने वाले उत्तराखंड की भूमि ने दुनिया को आरोग्यता का मंत्र दिया है। वहीं से आज देशभर में 35 नए ऑक्सीजन प्लांट का लोकार्पण हुआ है।

पीएम ने कहा कि सिर्फ एक टेस्टिंग लैब से करीब 3000 टेस्टिंग लैब का नेटवर्क बनना, मास्क-किट आयात से प्रारंभ होकर अब भारत निर्यातक बनने के सफर तेजी से पार कर रहा है। दूरदराज इलाकों में नए वेंटिलेटर की सुविधाएं, मेड-इन-इंडिया कोरोना वैक्सीन का निर्माण, दुनिया का सबसे बड़ा और तेज टीकाकरण हमारी संकल्प, शक्ति, सेवा भाव और एकजुटता का प्रतीक है।

उन्होंने कहा कि देश में कोरोना से लडाई के लिए जनसंख्या ही नहीं भौगोलिक परिस्थितियां भी बड़ी चुनौती ष्थी। ऑक्सीजन सप्लाई से लेकर वैक्सीनेशन तक में मुश्किलें सामने आई। मगर देश ने इसमें कामयाबी हासिल की। बताया कि सामान्य दिनों में भारत में एक दिन में 900 मैट्रिक टन लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन का प्रोडक्शन होता था। डिमांड बढ़ी तो उत्पादन 10 गुना से ज्यादा बढ़ाया। ऑक्सीजन का सबसे ज्यादा उत्पादन पूर्वी भारत में होता है, तो सबसे ज्यादा जरूरत उतरी और पश्चिमी भारत में पड़ी।

मोदी ने कहा कि दुनियाभर से हमने ऑक्सीजन प्लांट, टैंकर अरेंज किए। ऑक्सीजन पहुंचाने के लिए ट्रेन चलाई, सेना के विमान लगाए। उत्पादन बढ़ाने को डीआरडीओ के माध्यम से तेज फाइटर प्लेन की टेक्नोलॉजी को लगाया। भविष्य में कोरोना से लड़ाई के लिए पीएसए नेटवर्क तैयार किया जा रहा है। देश में पीएम केयर फंड से 1150 ऑक्सीजन प्लांट शुरू हुए हैं। हर जिला कवर हो गया है। आने वाले वक्त में केंद्र और राज्य के साझा प्रयासों से देश को 4000 हजार प्लांट मिलने जा रहे हैं।

पीएम मोदी ने कहा कि 93 करोड़ लोगों को कोविड-19 वैक्सीन की पहली डोज लग चुकी है। जल्द 100 करोड का आंकड़ा भी पार कर लेंगे। भारत में कोविन प्लेटफार्म के जरिए पहाड से रेगिस्तान, जंगल और समुंदर तक हर क्षेत्र में पूरी सुरक्षा के साथ वैक्सीन पहुंच रही है। देश में एक लाख 20 हजार से ज्यादा टीकाकरण केंद्र काम कर हैं। उत्तराखंड में भी राज्य सरकार के प्रभावी मैनजमेंट से पहले डोज का शत-प्रतिशत लक्ष्य हासिल हो जाएगा।

इस अवसर पर राज्यपाल रिटायर लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह, मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया, केंद्रीय रक्षा एवं पर्यटन राज्यमंत्री अजय भट्ट, विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल, सूबे के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. धन सिंह रावत, पूर्व सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत, तीरथ सिंह रावत, विजय बहुगुणा, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक, कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल, सतपाल महाराज, यशपाल आर्य, हरक सिंह रावत, बिशन सिंह चुफाल, रेखा आर्य, यतीश्वरानंद, सांसद अनिल बलूनी, नरेश बंसल, मेयर देहरादून सुनील उनियाल गामा, ऋषिकेश मेयर अनिता ममगाईं, एम्स के निदेशक प्रो. अरविंद राजवंशी आदि मौजूद थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button