उत्तराखंडराजकाज

Dehradun: गांवों में ईको टूरिज्म पर तैयार करें कार्ययोजनाः DM

देहरादून। जिलाधिकारी सोनिका की अध्यक्षता में ऋषिपर्णा सभागार कलेक्ट्रेट में जिलास्तरीय ईको-टूरिज्म समिति और रोजगार सृजन के निमित वन क्षेत्रों में उत्पादित होने वाली जड़ी बूटियों एवं संगन्ध पादप के उचित प्रबंधन व नियोजित दोहन के सम्बन्ध में बैठक हुई।

जिलाधिकारी ने निर्देश दिए कि ग्रामीण क्षेत्रों में पर्यावरण, स्वच्छता के साथ ईको-टूरिज्म गतिविधि को बढावा देने के साथ ही वन क्षेत्रों में वन अधिनियम के प्राविधानों के अनुरूप योजनाएं संचालित की जाए। जिससे चिह्नित वन क्षेत्रों में ईको-टूरिज्म का विकास किया जा सके।

उन्होंने वन क्षेत्र के अतिरिक्त ऐसे ग्रामीण क्षेत्र जो वन क्षेत्र से लगे हुए हैं, में भी ईको-टूरिज्म की संभावनाओं को दृष्टिगत रखते हुए कार्ययोजना तैयार करने को कहा। जिससे ग्रामीण क्षेत्रों में स्वरोजगार के अवसर सृजन कराते हुए ग्रामीणों की आर्थिकी बढाई जा सके। उन्होंने ईको-टूरिज्म क्षेत्र में स्थानीय परंपरा एवं संस्कृति को जोड़ते हुए कार्ययोजना तैयार करने पर बल दिया।

डीएम ने रोजगार सृजन को लेकर भेषज, उद्यान, वन आदि संबंधित विभागीय अधिकारियों को जड़ी, बूटियों उत्पादन, काश्तकारों को प्राप्त हो रही आय व जड़ी बूटियों के बाजार आदि की संभावनाओं पर कार्ययोजना तैयार करने को निर्देश दिए।

बैठक में डीएफओ देहरादून नितिश मणि त्रिपाटी, सीडीओ झरना कमठान, डीडीआरआई वन कहकशा नसीम, डीएफओ मसूरी आशुतोष, कालसी अमरेश कुमार, जिला उद्यान अधिकारी डॉ. मीनाक्षी जोशी, मुख्य कृषि अधिकारी लतिका सिंह, जिला पर्यटन विकास अधिकारी सुशील नौटियाल, भेषज से विमल कुमार आदि मौजूद थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button