चारधामयात्रा-पर्यटन

Breaking: 15 अप्रैल तक करें चारधाम यात्रा की व्यवस्थाएः कमिश्नर

यात्रा 2024 की तैयारियों की पहली बैठक आयुक्त गढ़वाल की अध्यक्षता में संपन्न

Char Dham Yatra 2024 : ऋषिकेश। उत्तराखंड में चारधाम यात्रा की व्यवस्थाओं की मानिटरिंग और सुचारू संचालन के लिए चारधाम यात्रा प्रबंधन एवं नियंत्रण संगठन की बैठक आज चारधाम यात्रा नियंत्रण संगठन के अध्यक्ष एवं आयुक्त गढ़वाल मंडल विनय शंकर पांडेय की अध्यक्षता में हुई। उन्होंने संबंधित विभागों के अधिकारियों से तैयारियों का फीडबैक लेने के साथ ही आवश्यक दिशानिर्देश दिए।

नगर निगम सभागार में आयोजित बैठक में चारधाम यात्रा की पहली बैठक में बीते यात्रा वर्ष की कार्ययोजना के परिणामों की समीक्षा की गई। साथ ही बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री, यमुनोत्री धाम और हेमकुंट साहिब यात्रा की तैयारियों को लेकर चर्चा हुई। गढ़वाल आयुक्त ने कहा कि चारधाम यात्रा से संबंधित विभाग 15 अप्रैल तक यात्रा तैयारियां पूर्ण कर कार्यप्रगति से अवगत कराएं। कहा कि चारधाम यात्रा बेहतर ढ़ंग से संचालित हो इसके लिए सभी विभाग तैयारियों में जुट जाएं। बताया कि अप्रैल माह में चारधाम यात्रा तैयारियों की समीक्षा बैठक में सभी अधिकाप्रगति आख्या से अवगत कराएंगे।

बैठक में बीते यात्रा वर्ष की समीक्षा के आधार पर जिलाधिकारी, पुलिस प्रशासन के शीर्ष अधिकारी, पुलिस अधीक्षक व चारधाम यात्रा से संबंधित पर्यटन-तीर्थाटन, बीआरओ,राजमार्ग, पीडब्लूडी, संचार निगम, स्वास्थ्य विभाग, नगर निगम, विद्युत, पेयजल, खाद्य आपूर्ति विभाग, परिवहन विभाग, बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति, हेमकुंट गुरूद्वारा सभा समेत सभी विभागों के आला अधिकारियों द्वारा यात्रा पूर्व व्यवस्थाओं की कार्ययोजना बनाई गई।

उपमहानिरीक्षक पुलिस गढवाल रेंज केएस नगन्याल ने बताया कि चारधाम यात्रा के दौरान समुचित पुलिस बल तैनात किया जाएगा और तीर्थयात्रियों की सहायता के लिए पुलिस तत्पर रहेगी। एसडीआरएफ, पुलिस बल, गोताखोर टीम, ट्रेफिक पुलिस और मार्ग अवरूद्ध होने पर वैकल्पिक मार्गो के प्रबंधन के लिए पुलिस सजग है। लोकसभा चुनाव को देखते हुए चारधाम यात्रा के लिए पीआरडी और होमगार्ड जवानों को भी तैनात किया जाएगा।

जिलाधिकाचमोली और बीकेटीसी के मुख्यकार्याधिकाको बदरीनाथ और हेमकुंट साहिब लोकपाल तीर्थ मे और केदारनाथ के लिए जिलाधिकारी रुद्रप्रयाग, गंगोत्री व यमुनोत्री की या़त्रा व्यवस्थाओं के लिए जिलाधिका उत्तरकाशी को निर्देशित किया गया। तीर्थयात्रियों की व्हाटसप, जिलाधिकारियों को सोशल मीडिया पर प्राप्त ऑनलाइन-ऑफलाइन शिकायतों का निराकरण, यात्रा मार्ग बाधित होने पर पुलिस और आपदा प्रबंधन से समन्वयन और यात्रा कंट्रोल रूम के संचालन के लिए निर्देशित किया गया। जिलाधिकारी उत्तरकाशी से जानकी चट्टी से यमुनोत्री पैदल मार्ग पर स्ट्रीट लाइट लगवाने, बैंचों का निर्माण, बारिश से बचाव के लिए टिन शैड, क्षतिग्रस्त रेलिंगों का सुधारकरण, सर्दी से बचाव के लिए अलाव व्यवस्था के लिए निर्देशित किया गया। धामों मे मूलभूत सुविधाओं परिवहन, आवास, स्वास्थ्य, बिद्युत, पेयजल, संचार व्यवस्था, स्वच्छता, आदि व्यवस्थाओ के निर्देश दिए गए।

उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद द्वारा तीर्थयात्रियों के फोटोमैट्रिक ऑनलाइन/ऑफलाठन पंजीकरण पर चर्चा, चारधाम यात्रा बुलेटिन 2024 का प्रकाशन और तीर्थयात्रियों की सहायता के लिए मोबाइल ऐप को अपडेट करने की कार्ययोजना पर विचार विमर्श हुआ। उत्तराखंड पावर कार्पोरेशन और उरेडा से चारों धामो सहित हेमकुंट साहिब में विद्युत आपूर्ति के साथ-साथ अतिरिक्ति जेनरेटर की व्यवस्था के लिए निर्देशित किया गया। जल संस्थान से पेयजल आपूर्ति सुचारू करने और पेयजल स्टेंड पोस्टों की जानकारी के साइन बोर्ड 50-100 मीटर पूर्व लगाने के निर्देश दिए गए।

आयुक्त गढ़वाल ने निदेर्शित किया कि सभी टीटीएसपीएच और पीटीएस की रंगाई पुताई कर उनमें पेयजल आपूर्ति सुनिश्चित कर ली जाए। परिवहन विभाग से टैक्स प्रक्रिया, ग्रीन कार्ड, प्रदूषण नियंत्रण वाहनों की समुचित पार्किंग आदि के बावत चर्चा हुई। इस संबंध में परिवहन कंपनियों के सुझावों को भी शामिल किया जाएगा। अपने परिक्षेत्रांरगत सार्वजनिक निर्माण विभाग, राष्ट्रीय राजमार्ग, एनएच आईडीसीएल, और बीआरओ से सड़को को गड्ढा मुक्त करने, बुल्डोजर, जेसीबी एवं पोकलेंड मशीनों को यथास्थान रखने, डंपिंग जोनो का समतलीकरण, ट्रैफिक साइन बोर्ड लगवाने और मार्ग अवरूद्ध होने पर मार्ग को सुचारू करने की कार्य योजना पर विचार-विमर्श हुआ।

परिवहन विभाग को निर्देश दिए गए कि 10 अप्रैल 2024 से पूर्व संयु़क्त रोटेशन की स्थापना कर ली जाए। संयुक्त रोटेशन द्वारा यात्रा वाहनों का प्रतिदिन विवरण उपलब्ध कराया जाए। बसों की कमी होने पर परिवहन कंपनिया 15 दिन पूर्व परिवहन विभाग को अवगत कराए जाने को उत्तराखंड परिवहन निगम की बसों और कूमाऊं मोटर्स यूनियन की बसों का चारधाम के लिए उपयोग किए जाने पर भी चर्चा हुई।

चिकित्सा विभाग को चारधाम यात्रा मार्ग पर चिकित्सकों और सहायक स्टाफ, दवाईयां, उपकरण, ए़बुलेंस, कोविड उपकरण, कार्डियोलोजिस्ट, एयर एंबुलेंस, यात्रा ट्राजिट केंप ऋषिकेश में यात्री चिकित्सा केंद्र स्थापित करने के निर्देश दिए गए। खाद्यान्न व्यवस्था के अंतर्गत यात्रा मार्गो पर स्थित गोदामों में समुचित खाद्यान्न भंडारण, पैट्रोल, डीजल, और गैस सिलेंडरों की आपूर्ति व्यवस्था करने के लिए निर्देश दिए गए। बदरीनाथ केदारनाथ मंदिर समिति से तीर्थयात्रियों को सुलभ दर्शन के लिए सरल-सुगम व्यवस्था, अलाव व्यवस्था, केदारनाथ धाम में तीर्थयात्रियों को बारिश से बचने के लिए शैल्टर और शूज स्टेंड बनाने की अपेक्षा की गई। मुख्य कार्याधिका योगेंद्र सिंह ने अवगत कराया है कि जिलाधिकारी चमोली और रुद्रप्रयाग से समन्वय कर यात्रा तैयारियों को आगे बढाया जा रहा है।

भारत संचार निगम लिमिटेड और जिला प्रशासन के स्तर से चारों धामों और हेमकुंट साहिब में बेहत्तर दूरसंचार व्यवस्था फ्रीक्वेंसी और मोबाईल टावरों के सुचारू संचालन की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए। गढ़वाल मंडल विकास निगम को यात्रा पूर्व यात्री विश्राम गृहों की की मरम्मत एवं सुदृढीकरण और साफ सुथरे बिस्तरों की व्यवस्था अतिरिक्त आवासीय टेंट कालोनियों की व्यवस्था के निर्देश दिए गए। समुचित दरों पर यात्रा पैकेज का प्रचार -प्रसार और बुकिंग की समुचित व्यवस्था के निर्देश दिए गए। नागरिक उड्डयन विभाग (उकाडा) यात्रा वर्ष 2024 के लिए हेली सेवा शुरू किए जाने, हेली सेवा से संबंधित फर्जी वेबससाइटों पर रोक एवं निगरानी करने एवं हेली परिसर में बैठने और पेयजल की समुचित व्यवस्था के निर्देश दिए गए।

बैठक में चारधाम यात्रा प्रबंधन एवं नियंत्रण संगठन के विशेष कार्याधिकारी/अपर आयुक्त गढ़वाल नरेंद्र सिंह क्विरीयाल ने बताया कि यात्रा प्रशासन एवं नियंत्रण संगठन चारधाम यात्रा तैयारियों में जुटा हुआ है। अप्रैल माह के तीसरे सप्ताह चारधाम यात्रा तैयारियों की समीक्षा बैठक आहूत की जाएगी।

बैठक में जिलाधिकारी देहरादून सोनिका, चमोली हिमांशु खुराना, टिहरी मयूर दीक्षित, पौड़ी डॉ. आशीष चौहान, रुद्रप्रयाग सौरभ गहरवार, उत्तरकाशी मेहरबान सिंह बिष्ट, एसपी चमोली रेखा यादव, रुद्रप्रयाग- डॉ. विशाखा भदाणे, पौड़ी स्वेता चौबे, उत्तरकाशी अर्पण यदुवंशी, एडीएम राहुल गोयल, बीकेटीसी मुख्य कार्याधिकारी योगेंद्र सिंह, नगर आयुक्त ऋषिकेश शैलेंद्र सिंह नेगी, संयुक्त निदेशक पर्यटन एसएस सामंत, संयुक्त निदेशक स्वास्थ्य डॉ. सुनीता, डॉ. सुजाता सिंह, अधिशासी अभियंता अनिल ध्यानी, निर्भय सिंह, अरविंद कुमार, शक्ति प्रसाद, एआरटीओ अरविंद पांडेय, मोहित कोठारी, यात्रा प्रशासन संगठन के वैयक्तिक सहायक एके श्रीवास्तव, बीकेटीसी मीडिया प्रभारी डॉ.. हरीश गौड़ आदि मौजूद रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button