चारधामयात्रा-पर्यटन

Char Dham Yatra: मिशन मोड में काम करें अधिकारीः मुख्यमंत्री

CM ने की तैयारियों की समीक्षा, कमियों और समस्याओं को दूर करने के निर्देश

Chardham Yatra 2024 : देहरादून 07 मार्च 2024। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गुरुवार को सचिवालय देहरादून में चारधाम यात्रा 2024 की तैयारियों को लेकर अधिकारियों के साथ बैठक की। सीएम ने यात्रा की तैयारियों और मॉनिटरिंग के लिए कमेटी गठित करने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री ने चारों धामों में यातायात प्रबंधन के सुगम संचालन के लिए एसपी/ एडिशनल एसपी रैंक के आधिकारी को नियुक्त किए जाने, अधिकारी और विभागों में आपसी समन्वय से कार्य किए जाने के निर्देश दिए। कहा बीते सालों की यात्रा में जो कमी और समस्याएं रही हैं, उन्हें इस वर्ष दूर किया जाए। पैदल मार्गो और संवेदनशील इलाकों में सीसीटीवी लगाए जाएं। यात्रियों के साथ ही स्थानीय लोगों के हितों का भी ध्यान रखा जाए। शासन स्तर से चारों धामों की लाइव मॉनिटरिंग की जाए, साथ ही आपदा कंट्रोल रूम का सुचारू संचालन किया जाए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि खराब मौसम के पूर्वानुमान की सूचना यात्रियों तक समय से पहुंचे। जिसके लिए यात्रियों के मोबाइल पर अलर्ट मैसेज की व्यवस्था की जाए। पैदल मार्गो की नियमित सफ़ाई हो। यात्रा मार्गों पर शौचालयों की संख्या बढ़ाने के साथ उनकी विशेष तौर पर साफ सफाई रखी जाए। उन्होंने मिशन मोड पर प्लास्टिक फ्री चार धाम पर काम करने के निर्देश दिए। यात्रा प्रारंभ से पूर्व चारों धामों में 24 घंटे विद्युत आपूर्ति की व्यवस्था सुनिश्चित कर ली जाए। पैदल मार्गो में स्ट्रीट लाइट भी लगाई जाए। यात्रा मार्ग पर सुचारू पेयजल आपूर्ति व्यवस्था की जाए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मार्गों का सुधारीकरण यात्रा से पूर्व कर लिया जाए। जिन स्थानों पर अधिकांश मार्ग अवरूद्ध होते है ऐसे स्थानों का चिन्हीकरण कर जेसीबी व मशीन आदि की व्यवस्था की जाए। यात्रा के दौरान मार्ग बंद होने पर उसे तुरंत खोलने की व्यवस्था की जाए। यात्रा के लिए बसों व टैक्सियों आदि की आवश्यकता का आंकलन कर पहले ही व्यवस्था की जाए।

मुख्यमंत्री ने यात्रा मार्ग पर स्वास्थ व्यवस्थाओं का विस्तार जल्द किए जाने के निर्देश दिए। कहा यात्रा मार्गों पर अस्थाई चिकित्सा केन्द्रों में चिकित्सा व अपेक्षित स्टाफ की तैनाती के साथ जीवनरक्षक दवाई, उपकरण, पोर्टेबल आक्सीजन सिलेंडर और एम्बुलेन्स व एयर एम्बुलेंस की व्यवस्था की जाए। घोडे खच्चरों को होने वाली बीमारियों की रोकथाम के लिए पशुचिकित्सकों की तैनाती की जाए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि यात्रा सीजन में धामों और यात्रा मार्गो पर एसडीआरएफ, पुलिस बल, जल पुलिस, गोताखोर, ट्रैफिक पुलिस की तैनाती का प्रबन्धन किया जाए। जहां आवश्यकता हो वहां अस्थायी पुलिस चौकी की स्थापना भी की जाए। कहा कि यात्रा के दौरान अच्छा कार्य करने वाले लोगों व विभागो को सम्मानित किए जाएगा।

बैठक में कैबिनेट मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल, मुख्य सचिव राधा रतूड़ी, बीकेटीसी अध्यक्ष अजेंद्र अजय, प्रमुख सचिव आरके सुधाशु, डीजीपी अभिनव कुमार, सचिव सुभाष बगौली, वर्चुअल माध्यम से जिलाआधिकारी और अधिकारी जुड़े रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button