देहरादूनराजकाज

Uttarakhand: मानसून की तैयारियां 15 जून से पहले करें पूरीः सीएम

देहरादून। मानसून सीजन के मद्देनजर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अधिकारियों को सभी तैयारियां और आपदा प्रबंधन के नोडल अधिकारियों की तैनाती 15 जून से पहले सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने बीते साल के अनुभवों के आधार पर एक्शन प्लान भी तलब किया है।

मंगलवार को सचिवालय में मानसून सीजन की तैयारियों की समीक्षा बैठक आयोजित की गई। बैठक में मुख्यमंत्री ने एसटीपी प्लांट और पुराने पुलों का सेफ्टी ऑडिट करने, बिजली की तारों से सावधानी बरतने और स्वास्थ्य विभाग को मानसून सीजन के दृष्टिगत मरीजों और गर्भवती महिलाओं को चिह्नित कर उनके लिए आपातकालीन स्थिति में हेली एम्बुलेंस की व्यवस्था रखने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अतिवृष्टि से पिछले सालों में क्या चुनौतियां सामने आई और किन-किन क्षेत्रों में अधिक आपदाएं आई व इस तरह की चुनौतियों का सामना करने के लिए शासन और जनपद स्तर पर क्या तैयारियां की गई हैं, इसका पूरा एक्शन प्लान प्रस्तुत किया जाए।

मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि मौसम के पूर्वानुमान की सटीक जानकारी लोगों तक समय पर पहुंचे। पूर्व चेतावनी के आधार पर लोगों को नियमित रूप से अलर्ट मोड पर रखें। कहा कि मौसम के पुर्वानुमान और जनजागरूकता से अतिवृष्टि और आपदा के प्रभाव को कम करने पर विशेष ध्यान दिया जाए।

उन्होंने सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिए कि सभी जनपदों में भू-स्खलन की समस्या वाले क्षेत्रों को चिन्हित कर वहां समय पर आवश्यक व्यवस्थाएं उपलब्ध की जाए। जिन क्षेत्रों में बरसाती नदी और नाले उफान पर आते हैं, उनके लिए भी वैकल्पिक व्यवस्थाओं के लिए अभी से प्लान बना कर रखे जाएं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मानसून के दृष्टिगत पर्वतीय जनपदों में आवश्यक दवाओं, खाद्य सामग्री व अन्य मूलभूत आवश्यकताओं से संबंधित व्यवस्थाएं पर्याप्त मात्रा में रखी जाए। विद्यार्थियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए आवश्यकतानुसार छुट्टी की घोषणा करें। आपदा के दृष्टिगत त्वरित राहत व बचाव कार्य के लिए हेलीकॉप्टर की व्यवस्था रखी जाए।

उन्होंने अल्मोड़ा जनपद के सरियापनी में एसडीआरएफ बटालियन रखी जाए और विभिन्न विभागों द्वारा शासन से जो धनराशि की मांगी जा रही है, वह धनराशि यथाशीघ्र संबंधित विभागों को दी जाए।

बैठक में उपाध्यक्ष अवस्थापना अनुश्रवण परिषद् विश्वास डाबर, मुख्य सचिव राधा रतूड़ी, अपर मुख्य सचिव आनन्द बर्द्धन, विभागीय अधिकारी और कुमांऊ कमिश्नर दीपक रावत व जिलाधिकारी वर्चुअल माध्यम से शामिल रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button