उत्तराखंडदेश-विदेशसाहसिक

माउंट एवरेस्ट और मकालू पर आरोहण का बना नया नेशनल रिकॉर्ड

पर्वतारोही सविता कंसवाल ने 15 दिनों में नाप दिए दुनिया के दो सबसे ऊंचे पर्वत, खुशी

New National Record: आज उत्तराखंड (Uttarakhand) को गौरवांवित करने करने वाली खबर आई है। संघर्षों में तपी और सधी जनपद उत्तरकाशी के लोंथरु गांव बेटी पर्वतारोही सविता कंसवाल (Savita Kanswal) ने माउंट एवरेस्ट (Mount everest) के बाद महज 15 दिनों में माउंट मकालू (Mount Makalu) पर्वत पर भी सफल आरोहण कर नेशनल रिकॉर्ड का कीर्तिमान अपने नाम किया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पर्वतारोही सविता कंसवाल ने 12 मई को दुनिया के सबसे ऊंचे पर्वत शिखर माउंट एवरेस्ट (8848.86 मीटर) पर तिरंगा फहराया था। जिसके बाद उन्होंने माउंट मकालू (8463 मीटर) पर भी अगले 15 दिनों में आरोहण किया। महज 15 दिनों में दो पर्वत शृंखलाओं पर सफल आरोहण से उनके नाम नया नेशनल रिकॉर्ड बना है।

पर्वतारोही सविता कंसवाल इससे पूर्व त्रिशूल पर्वत (7120 मीटर), हनुमान टिब्बा (5930 मीटर), कोलाहाई (5400 मीटर), द्रौपदी का डांडा (5680 मीटर), तुलियान चोटी (5500 मीटर), दुनिया की चौथी सबसे ऊंची चोटी माउंट ल्होत्से (8516 मीटर) पर सफल आरोहण कर चुकी हैं।

बताते हैं कि चार बहनों में सबसे छोटी सविता (25) का जीवन बेहद संघर्षपूर्ण रहा है। सरकारी स्कूल से पढ़ीं सविता ने 2013 में नेहरू पर्वतारोहण संस्थान (निम) उत्तरकाशी से पर्वतारोहण का बेसिक कोर्स किया। सविता ने एडवांस और सर्च एंड रेस्क्यू कोर्स के साथ पर्वतारोहण प्रशिक्षक का कोर्स भी किया। सविता नेहरू पर्वतारोहण संस्थान की एक कुशल प्रशिक्षक भी हैं।

पर्वतारोही सविता की इस कामयाबी पर उनके गांव में ही खुशी नहीं है बल्कि निम के प्रधानाचार्य कर्नल अमित बिष्ट, पर्वतारोही विष्णु सेमवाल, माउंटेनियरिंग एसोसिएशन के अध्यक्ष जयेंद्र राणा, होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष शैलेंद्र मटूड़ा, अजय पुरी, शैलेंद्र नौटियाल, माधव जोशी ने भी सफलता पर हर्ष जाहिर किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button