देश-विदेशसियासत

Breaking News: गुलाम नबी आजाद ने दिया कांग्रेस को बड़ा झटका

Ghulam Nabi Azad Resigns: 51 बरस कांग्रेस में रहने के बाद आज गुलाम नबी आजाद (Ghulam Nabi Azad) ने कांग्रेस को अलविदा कह दिया है। आजाद ने कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी (Soniya Gandhi) को 5 पन्नों को त्यागपत्र भेजा है। जिसमें उन्होंने अपने इस्तीफे के कारणों को गिनाया है।

मीडिया रिपोर्टस् के मुताबिक आज राज्यसभा में कांग्रेस के नेता प्रतिपक्ष के साथ ही मनमोहन सरकार के स्वास्थ्य मंत्री रहे गुलाम नबी आजाद ने पार्टी की प्राथमिक सदस्यता के साथ ही सभी पदों से इस्तीफा दे दिया है।

आजाद ने सोनिया गांधी को भेजे पत्र में लिखा है कि ‘बड़े खेद और बेहद भावुक हृदय के साथ मैंने भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस से अपना आधा शताब्दी पुराना नाता तोड़ने का फैसला किया है।’

यह भी कि ’2014 में आपके और उसके बाद राहुल गांधी (Rahul Gandhi) द्वारा नेतृत्व संभाले जाने के बाद, कांग्रेस अपमानजनक ढंग से दो लोकसभा चुनाव हार गई। 2014 से 2022 के बीच 49 विधानसभा के चुनावों में से कांग्रेस 39 में हारी। पार्टी केवल चार राज्यों के चुनाव जीत पाई और छह में वह गठबंधन की स्थिति बना पाई। दुर्भाग्यवश, आज कांग्रेस केवल दो राज्यों में सरकार चला रही है और दो अन्य राज्यों में यह बहुत सीमांत गठबंधन सहयोगियों में है।’

गुलाम नबी आजाद ने अपने इस्तीफे में 2019 के चुनाव के बाद से पार्टी में हालात खराब होने, वरिष्ठ पदाधिकारियों का अपमान करने, राहुल गांधी के हड़बड़ाहट में पद छोड़ने की बात भी लिखी है। साथ ही यह कि यूपीए सरकार की संस्थागत अखंडता को ध्वस्त करने वाला रिमोट कंट्रोल मॉडल कांग्रेस में लागू हो गया था।

बता दें कि गुलाम नबी आजाद ने अपने स्वास्थ्य का हवाला देते हुए इससे पूर्व जम्मू-कश्मीर में कांग्रेस की प्रचार समिति के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था। आजाद ने कांग्रेस के भारत जोड़ो यात्रा पर तंज किया कि देश में इससे पहले कांग्रेस जोड़ो यात्रा निकालनी चाहिए थी। उन्होंने कांग्रेस की बर्बादी के लिए राहुल गांधी को जिम्मेदार ठहराया है।

उधर, इस्तीफे के बाद उनके अगले कदम को लेकर कयास लगाए जाने लगे हैं। खासकर उनके कांग्रेस से आजाद होने को जम्मू-कश्मीर की भावी राजनीति से जोड़कर देखा जा रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button